Picsart 22 11 09 08 20 00 083

hindi varnamala | हिन्दी वर्णमाला – स्वर और व्यंजन के भेद एवं वर्गीकरण PDF Notes Download 2022-23

अगर आप हिंदी भाषा का थोड़ा सा भी ज्ञान रखना चाहते है तो आपको हिन्दी वर्णमाला की जानकारी होना आवश्यक है आज के लेख में हम पाठकों के लिये हिन्दी वर्णमाला से जुड़ी सभी महत्वपूर्ण जानकारी देगें ।

hindi varnamala | हिन्दी वर्णमाला – स्वर और व्यंजन के भेद एवं वर्गीकरण

हिन्दी वर्णमाला किसे कहते है

hindi varnamala | हिन्दी वर्णमाला - स्वर और व्यंजन के भेद एवं वर्गीकरण

भाषा की सबसे छोटी इकाई को ध्वनि या वर्ण कहा जाता है । ध्वनि या वर्ण के माध्यम से व्यक्ति अपनी भावनाएं व्यक्त करता है इन्हीं भावनाओं को लिखने के लिये जिन चिन्हों का प्रयोग किया जाता है उन्हें हम वर्ण कहते है ।

एक से अधिक वर्णो के व्यवस्थित समूह को वर्णमाला कहते है वर्ण माला को मुख्यतः दो भागों में विभाजित किया गया है स्वर और व्यंजन

हिंदी में वर्ण कितने होते है

आपको इस बात की जानकारी तो है कि वर्णो के व्यवस्थित समूह को वर्णमाला कहते है , हिन्दी वर्णमाला में लेखन के आधार पर वर्णो की संख्या कुल 52 है ।

  • मूल वर्णो की संख्या 44 मानी गयी है जिसमे 11 स्वर और 33 व्यंजन है ।
  • उच्चारण के आधार पर वर्णो की संख्या 47 है जिसमे 10 स्वर ओर 37 व्यंजन है ।
  • लेखन के आधार पर वर्णो की संख्या 52 है जिसमे 13 स्वर और 39 व्यंजन है ।

स्वर कितने होते है

Picsart 22 11 09 08 13 50 975
hindi varnamala | हिन्दी वर्णमाला

जिन वर्णो का उच्चारण स्वतंत्र होता है उन्हें हम स्वर कहते है इन वर्णो को बोलने या लिखने के लिये अन्य किसी वर्ण की आवश्यकता नही होती ।

मुख्य रूप से स्वरों की संख्या 13 मानी गयी है अ, आ, इ, ई, उ, ऊ, ऋ, ए, ऐ, ओ, औ अं अः।

उच्चारण की दृष्टि से स्वरों को तीन भागों में विभाजित किया गया है जो निम्नलिखित है ।

हस्व स्वर

जिन स्वरों के उच्चारण में बहुत कम समय लगता हैं उन्हें ह्रस्व स्वर कहते हैं। ह्रस्व स्वर चार हैं- अ, इ, उ, ऋ । इन्हें मूल स्वर भी कहते हैं।

दीर्घ स्वर

जिन स्वरों के उच्चारण में ह्रस्व स्वरों से अधिक समय लगता है उन्हें दीर्घ स्वर कहते हैं। दीर्घ स्वर हिन्दी में सात हैं- आ, ई, ऊ, ए, ऐ, ओ, औ ।

प्लुत स्वर

जिन स्वरों के उच्चारण में दीर्घ स्वरों से भी अधिक समय लगता है उन्हें प्लुत स्वर कहते हैं। प्रायः इनका प्रयोग दूर से बुलाने में किया जाता है। जैसे- आSS, ओ३म्, राऽऽम आदि।

व्यंजन कितने होते है

Picsart 22 11 09 08 16 33 353
hindi varnamala | हिन्दी वर्णमाला

जिन वर्णो के उच्चारण के लिये स्वर की सहायता ली जाती है उन्हें व्यंजन कहते है अगर अच्छे से समझा जाये तो आपको मालूम होगा कि व्यंजनों का उच्चारण स्वरों के विना करना सम्भव नही है ।

व्यंजनों की संख्या 39 होती है और इनको मुख्यतः तीन भागों में विभाजित किया गया है जो इस प्रकार है।

स्पर्श व्यंजन

इन्हें पाँच वर्गों में रखा गया है और हर वर्ग में पाँच-पाँच व्यंजन हैं। हर वर्ग का नाम पहले वर्ग के अनुसार रखा गया है

1क वर्गक ख ग घ ड़
2च वर्गच छ ज झ ञ
3ट वर्गट ठ ड ढ ण
4त वर्गत थ द ध न
5प वर्गप फ ब भ म

अंतःस्थ व्यंजन

अंतःस्थ व्यंजनों की संख्या चार है य र ल व

ऊष्म व्यंजन

ऊष्म व्यंजनों की संख्या चार है श ष स ह

1000+ प्रतियोगी परीक्षा में पूछी गयी रचनायें और हिंदी के प्रसिद्ध कवि [ Download PDF ] Easy Tricks

Samanya Hindi Notes PDF | सामान्य हिन्दी नोट्स पीडीफ – Free Download 2022

छन्द | छन्द किसे कहते है | छन्द की परिभाषा | छन्द कितने प्रकार के होते है – AK STUDY EASY NOTES 2022-23

CTET का रजिस्ट्रेशन करने के लिये इस लिंक पर क्लिक करें https://ctet.nic.in/

अगर आप किसी भी प्रतियोगी परीक्षा की तैयारी कर रहे है तो आप हमारी वेबसाइट पर बने रहे हम आपको सरल भाषा मे सभी विषयों के महत्वपूर्ण नोट्स प्रोवाइड कराते रहेंगे।

धन्यवाद….

Leave a Comment

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.